No icon

yaman

यमन ने दागी सउदी अरब पर मिसाइल, 1 महीने के अंदर दूसरा हमला

सऊदी अरब ने युद्धग्रस्त यमन की ओर से दागी गई एक बैलिस्टिक मिसाइल को आज नष्ट कर दिया. एक महीने में यह दूसरा ऐसा हमला है. ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. शिया विद्रोहियों से लड़ रहे सऊदी के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन के प्रवक्ता ने कहा कि सऊदी अरब के दक्षिणी शहर खमिस मुश्त को निशाना बनाकर मिसाइल दागी गई और अभी तक इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

सऊदी प्रेस एजेंसी ने सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अल मालिकी के हवाले से कहा, ‘‘रॉयल सऊदी एयर डिफेंस फोर्सेज ने मिसाइल का पता लगाया जो खमिस मुश्त की ओर बढ़ रही थी.’’ हूती द्वारा चलाए जा रहे अल मसिरा टीवी चैनल ने पहले दावा किया था कि मिसाइल ने सऊदी अरब के भीतर सैन्य लक्ष्य को निशाना बनाया लेकिन सऊदी अधिकारियों ने इसे खारिज कर दिया.

हमले से घंटों पहले विद्रोहियों के प्रमुख अब्दुलमलिक अल-हूती ने यमन पर प्रतिबंध लगाने के लिए गठबंधन सेना की कार्रवाई का जवाब देने की धमकी दी थी. बीते महीने हूती द्वारा दागी गई मिसाइल के जवाब में ये प्रतिबंध लगाए गए थे. सऊदी अरब अपने चिर प्रतिद्वंद्वी ईरान पर यमन के हूती विद्रोहियों का समर्थन करने का आरोप लगाता है और गत महीने सऊदी अरब के ताकतवर शहजादे मोहम्मद बिन सलमान ने कहा था कि इसे ‘‘युद्ध की कार्रवाई माना जा सकता है.’’ सऊदी अरब ने ईरान पर हूती विद्रोहियों को हथियार देने का आरोप लगाया है लेकिन ईरान इस आरोप को खारिज करता है. इस बीच, यमन की राजधानी सना में हूती विद्रोहियों और पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह के समर्थकों के बीच आज लगातार दूसरी रात भी झड़प हुई.

Comment